रक्त दाताओं को नशा मुक्ति मंच ने किया सम्मान

04रायगढ़। 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस पर नशामुक्ति अभियान मंच के संयोजक उमेश अग्रवाल ने ओम सांई ब्लड गु्रप रायगढ़ के युवाओं को रक्तदाता प्रमाण पत्र एवं शील्ड देकर सम्मानित किया। वहीं समाज सेवा के लिए किये जा रहे उनके कार्यों की प्रशंसा करते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की। इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में रक्त की कमी से मृत होने वालों की संख्या चिंताजनक है। उन्होंने युवाओं से अनुरोध किया है कि वे रक्तदान अवश्य करें। क्योंकि उनके द्वारा डोनेट किये गए  ब्लड से किसी की जिंदगी बच सकती है। रक्त दान से शरीर के कमजोर होने या रक्तदान से शरीर पर किसी प्रकार का नकारात्मक दुष्प्रभाव नहीं पड़ता। बल्कि रक्तदान से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।  नई पीढ़ी को रक्तदान के लिए स्वेच्छा से कदम उठाना चाहिए। रक्तदान के संबंध में चिकित्सा विज्ञान कहता है कि शरीर में रक्त निर्माण की प्रक्रिया निरंतर चलती रहती है एवं 16 से 60 वर्ष तक की उम्र का स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। ऐसे में हमें  जीवन बचाने का माध्यम बन कर रक्तदान कर मिशाल पेश करना चाहिए। उन्होंने ओम सांई ब्लड गु्रप रायगढ़ के युवाओं द्वारा की जा रही रक्तदान की काफी प्रशंसा करते हुए उन्हे और युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित करने को कहा।
विदित हो कि रायगढ़ शहर में अपनी अलग पहचान बना चुकी ओम सांई ब्लड गु्रप की शुरूवात 30 जून 2016 से की गई। समूह के सदस्य अब तक 5 सौ से अधिक जरूरतमंद मरीजों की मदद कर चूके हैं। समूह में विगत एक वर्ष में 150 से अधिक युवा जुड़ चुके हैं जो लगातार मरीजों को रक्तदान कर रहे हैं। सोशल मीडिया के जरिये उन्होंने इसके लिए बकायदा एक ग्रुप भी बनाया हैं। गु्रप से जुड़े सदस्य मदद के लिए हमेशा ही खड़े रहते हैं। इस गु्रप में 40 प्रतिशत पुलिस के जवान तथा 60 प्रतिशत आम नागरिक  व मीडिया से जुड़े हुए युवा हैं। ग्रुप के सदस्यों ने बताया कि अस्पताल में इलाजरत किसी भी जरूरत मंद को अगर रक्त कि आवश्यक्ता पड़ी और वह खबर सांई ब्लड ग्रुप के किसी भी सदस्य को पता चले तब वह तुरंत वहां जाकर रक्तदान कर एक नया जीवन देते हैं। ओम सांई ब्लड ग्रुप के सदस्यों को नंबर शहर के सभी ब्लड बैंकों में हैं जिनमें ओ.पी. जिंदल हास्पिटल, संजीवनी, मेट्रो, मेकाहारा, आरएल हास्पिटल सहित अन्य हास्पिटल शामिल है। फेसबुक पेज पर भी समूह के एक्टिव सदस्यों के द्वारा रक्तदान करने वाले सदस्यों को प्रोत्साहित करने के लिए उनकी फोटो फेसबुक पर पोस्ट कर आभार व्यक्त करते हैं। इसके पीछे मुख्य उद्देश्य दूसरों को भी इस काम के लिए प्रेरित करना है। इसके अलावा वे आम लोगों की मदद करने से पीछे नहीं हटते। खास बात तो यह है कि इस ग्रुप से जुड़े कई सदस्य तो 20 से अधिक बार ब्लड डोनेट कर चूके हैं। जिसमें रवि शंकर श्रीवास 3, कवि प्रदीप कुमार   गुमशुम   20, शेखर शिखर 23, प्रमोद पटेल 22, चंद्रकांत जयसवाल  12, कलेश्वर गुप्ता 9, दिलीप सिदार 5, दीपक वैष्णव 5, दिपक गुप्ता 1, मनोज श्रीवास 1, अमित श्रीवास 1, शैलेन्द्र सिंह 8, लहर सिंह 7, शेखर ठाकुर 2, संजय केरकेटा 5, राजेश राठौर 11 , शुभम गर्ग 10, जितेन्द्र कुर्रे 8, महेन्द्र यादव 1, अजय सागर 8, दिलीप गुप्ता 7 अमर बंजारे 6 बार ब्लड दे चुके हैं।